Bavaseer ke ghareloo upchar aur bachaw | बवासीर (Piles) के घरेलू उपचार और बचाव | Home remedies for piles


बवासीर एक ऐसी बीमारी है जो आजकल बहुत ही ज्यादा तेजी से बढ़ रहा है और आजकल लगभग हर आदमी को होने का खतरा है. यह बीमारी लोगों के खान-पान में बदलाव के कारन फ़ैल रहा है. ज्यादा बाहरी सामान खाने से तथा ज्यादा तैलिये सामान खाने से भी यह बीमारी होने का खतरा बना रहता है.

बवासीर दो प्रकार की होती है: खुनी और बादी वाली बवासीर. यह एक बहुत ही कष्टदायक बीमारी है. यह ग्रसित आदमी को बहुल ही ज्यादा तकलीफ देती है. इस बीमारी में आप ज्यादा देर तक कही भी बैठ नहीं पाते हैं. ज्यादा देर बैठने से हमें दर्द महसूस होने लगता है. कुछ घरेलू उपाय अपनाकर हम इस बीमारी से आराम  पा सकते हैं तथा इस बीमारी से अपना बचाव भी कर सकते हैं.
बवासीर के विभिन्न प्रकार
बवासीर के विभिन्न प्रकार

बवासीर के उपचार के कुछ घरेलू उपचार नीचे बताये गए हैं:

  • बवासीर के मरीज तेल से पके हुए चीजो जैसे चिकन, मटन, मछली इत्यादि तथा बाहरी पके हुए सामानों का इस्तेमाल काम से काम करें या बिल्कुल न करें तो ज्यादा अच्छा है.
  • बवासीर के मरीज अदरक का सेवन बिल्कुल न करें. बवासीर में अदरक बहुत ज्यादा नुकसान पहुचता है.
  • ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जी तथा रेशेदार फलों का उपयोग करने से इस बीमारी से बचा जा सकता है.
  • पालक, बथुआ, मूली इत्यादि का रोजाना सेवन करके बवासीर से बचा जा सकता है. इन चीजो को हर रोज में भोज में शामिल करने से बवासीर होने का खतरा बहुत ही काम हो जाता है.
  • एक पके हुए केले को बीच से काटकर उसमे कत्था छिड़क दें और उस केले को खुले आसमान के नीचे रख दें. अगले दिन सुबह उस केले को बाथरूम से आने के बाद खा लें. ऐसा लगातार करने से पुरानी से पुरानी बवासीर समाप्त हो जाती है.
  • आँवले का चूर्ण, त्रिफला का चूर्ण तथा शहद को एक साथ दिन में दो बार लेने से बवासीर में काफी आराम मिलता है.
  • नीम के तेल को बवासीर वाली जगह पर लगाने से काफी फायदा मिलता है.
  • अगर रोजाना गुड़ के साथ हरड़ का सेवन करें तो यह बवासीर के लिए रामबाण काम करेगा.
  • बड़ी इलायची को हल्का गर्म कर लें. ठंडा होने के बाद इसके दाने निकलकर पीस लें. रोजाना इस चूर्ण को खाली पेट पानी के साथ लेने से बवासीर में काफी आराम महसूस होगा.
  • पका हुआ पपीता, बेल, सेब, अंगूर, आम, अनार इत्यादि मौसमी फल भी खाने से बवासीर की बीमारी में फायदा मिलता है.
  • लगभग 50 ग्राम किशमिश रात भर पानी में फूल लें और सुबह उसी पानी में किशमिश को मसल कर पी जाएँ. ऐसा कुछ दिनों तक लगातार करने से बवासीर में लाभ महसूस होने लगेगा.
  Bavaseer ke ghareloo upchar aur bachaw, बवासीर (Piles) के घरेलू उपचार और बचाव, Home remedies for piles, babaseer ke upchar, babaseer se bachaw ke upay

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT