Grahan me kya kare aur kya na kare | ग्रहण में क्या करें और क्या ना करें | Do's and don't during eclipse

सूर्य ग्रहण या चंद्रग्रहण कोई भी लगा हो, कुछ ऐसे काम है जिन्हें ग्रहण के दौरान करने की मनाही होती है. ज्योतिषियों के अनुसार ग्रहण के समय सूतक लग जाता है जिसके कारण कोई भी काम करना शुभ नहीं होता है. चंद्र ग्रहण में किया गया पुण्य कर्म (जप, ध्यान, दान आदि), सामान्य दिन से 1 लाख गुना और सूर्यग्रहण में 10 लाख गुना फलदायी होता है।

इसे भी पढ़ें: ग्रहण क्या है


ग्रहण में क्या करें और क्या ना करें
ग्रहण में क्या करें और क्या ना करें

ग्रहण के दौरान नीचे बताये गए काम भूलकर भी नहीं करें:

1.  ग्रहण के समय मूर्ति पूजा नहीं करना चाहिए. 

2.  ग्रहण के समय तुलसी के पौधों को नहीं छूना चाहिए.

3. ग्रहण के समय खाना नहीं पकाना चाहिए और ना ही भोजन करना चाहिए.

4. ग्रहण काल में सोना वर्जित है.

5. ग्रहण के समय कोई भी शुभ या नया कार्य नहीं करना चाहिए.

6. ग्रहण के पहले बने हुए खाना को ग्रहण के बाद भी नहीं खाना चाहिए.

7. ग्रहण लग जाने के बाद जल ग्रहण करना चाहिए.

8. चंद्र ग्रहण कुंवारे लड़के या लड़कियों को नहीं देखना चाहिए. ऐसा माना जाता है कि चंद्र ग्रहण देखने से उनकी शादी में अड़चन आती हैं.

9.  ग्रहण के दिन पत्ते,लकड़ी और फूल नहीं तोड़ना चाहिए.

10. ग्रहण के दौरान ताला खोलना या मलमूत्र का त्याग नहीं करना चाहिए.

11. ग्रहण के अवसर पर किसी दूसरे का खाना खाने से 12 वर्षों में एकत्रित किया हुआ पुण्य नष्ट हो जाता है।

हमारे समाज में सूर्य और चंद्र ग्रहण को गर्भवती महिलाओं के लिए नुकसानदेह माना जाता है. ऐसी मान्यता है कि गर्भ में पल रहे शिशु पर ग्रहण का बुरा प्रभाव पड़ता है. ग्रहण के कारण शिशु को कई प्रकार की शारीरिक विकृतियां हो सकती हैं.  इसे कई लोग अंधविश्वास भी कहते हैं. परन्तु, अभी तक इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं मिला है इसीलिए यह जरूरी है कि हम अपने और अपने परिवार वालों के लिए जो मान्यता चली आ रही है उसका पालन करें.

ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को नीचे बताये गए काम नहीं करना चाहिए:

1. ग्रहण के दौरान जितना हो सके आराम करना चाहिए.

2.  खिड़कियों और दरवाजों को मोटे परदे से ढँक देना चाहिए ताकि ग्रहण की रौशनी अंदर प्रवेश ना करें.

3. ग्रहण समाप्त हो जाने के बाद स्नान जरूर करना चाहिए.

4.  ग्रहण से पहले जो खाना पका हो उसे नहीं खाना चाहिए क्योंकि वह दूषित हो जाता है.

5.  नुकीली या धारदार वस्तुओं से दूर रहना चाहिए. जैसे चाकू, कैंची, सुई, पेन या पेंसिल  से दूर रहना चाहिए. 

6. ग्रहण के दौरान कुछ भी काटना नहीं चाहिए. कुछ लोग नाखून काट लेते हैं जबकि ऐसा भी नहीं करना चाहिए.

7.  ग्रहण के वक्त घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए.

8. किसी पतले डंडे से अपने आप को नाप कर उसे सीधा खड़ा करके रख देना चाहिए.

ग्रहण के नीचे बताये गए काम करना चाहिए:

1.  ग्रहण के दौरान दीया जलाकर गायत्री मंत्र का जप करना चाहिए.

2. ग्रहण के समय प्रार्थना या हवन आदि कर सकते हैं.

3. ग्रहण खत्म होने के बाद स्नान करके देवताओं की मूर्तियों को गंगाजल से शुद्ध करना चाहिए.

4.  ग्रहण खत्म होने के बाद स्नान आदि से निवृत होकर साफ वस्त्र पहनकर किसी धार्मिक स्थल पर जाना चाहिए. अगर यह संभव ना हो तो अपने घर में जहाँ पूजा करते हैं उस जगह को अच्छे से साफ करके भगवान का पूजा करना चाहिए.

5. ग्रहण खत्म होने के बाद दान अवश्य करें. दान में आप गरीबों को अनाज पैसे और कपड़े दान कर सकते हैं.

6. ग्रहण समाप्त हो जाने के बाद जिस पर ग्रहण लगा हो (सूर्य या चंद्रमा) उसपर स्नान करके जल अर्पण करके उसका प्रतिबिंब देख कर ही भोजन ग्रहण करें.


YOU MAY ALSO LIKE


No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT