Keyboard kya hai | कीबोर्ड क्या है | What is Keyboard


कीबोर्ड कंप्यूटर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है. कीबोर्ड को हिंदी में हम कुंजीपटल कहते हैं. कीबोर्ड एक इनपुट डिवाइस है जिसकी सहायता से ही हम कंप्यूटर में टेक्स्ट या न्यूमेरिकल डाटा को इंटर करते हैं. आज के समय में QWERTY कीबोर्ड का प्रयोग किया जाता है. कीबोर्ड का मुख्य भाग अंग्रेजी अक्षरों एवं नंबर कुंजी से मिलकर बना होता है. इसके अलावा इसमें कुछ स्पेशल कुंजी भी होते हैं. कीबोर्ड में लगभग 108 की होते हैं.

 कीबोर्ड के प्रकार (Types of keyboard):

 कीबोर्ड तीन प्रकार के होते हैं:
  1. साधारण कीबोर्ड  (Normal keyboard)
  2. ताररहित कीबोर्ड (Wireless keyboard)
  3. ऑर्गेनिक कीबोर्ड (Ergonomic keyboard)
इसे भी पढ़ें: जीएसटी रिटर्न और जीएसटी रिटर्न फॉर्म

कीबोर्ड क्या है
कीबोर्ड क्या है

1. साधारण कीबोर्ड (Normal keyboard): PC में सामान्य रूप से प्रयोग करता है वह साधारण कीबोर्ड कहलाते हैं. इसका आकार आयताकार होता है और इसमें लगभग 108 की होते हैं . इसे कंप्यूटर से कनेक्ट करने के लिए एक केबल का प्रयोग होता है, जिसे CPU और कंप्यूटर से जोड़ना होता है.

2. तार रहित कीबोर्ड (Wireless keyboard): तार रहित की बोर्ड में तार का प्रयोग नहीं होता है. इस प्रकार के कीबोर्ड सीमित दूरी तक ही कार्य करते हैं. यह थोड़ा महंगा होता है, जिस कारण से इसका प्रचलन ज्यादा नहीं हो पाया है.

 3. ऑर्गेनिक कीबोर्ड (Ergonomic keyboard): ऐसे कीबोर्ड विशेष तौर पर यूजर को टाइपिंग के दौरान होने वाले उत्पन्न कलाई के दर्द को कम करने के लिए किया गया है. यह कीबोर्ड यूजर को टाइपिंग में आराम देता है.

कीबोर्ड में प्रयोग होने वाले कुंजी के प्रकार:

एक कंप्यूटर के कीबोर्ड में बहुत सारे की होते हैं. जो अलग-अलग तरह के Symbols, Letters में स्थित होते हैं. यदि हमें यह पता चल जाए कि कौन सी key से हम किस प्रकार अपने कार्य को आसानी से कर सकते हैं तो हमें कंप्यूटर में कुछ भी टाइप करना या अन्य कोई कार्य करना आसान हो जाएगा. कीबोर्ड के कुंजी को हम 6 भागों में विभाजित करके आसानी से समझ सकते हैं.


1. अल्फा न्यूमैरिक की (Alphanumeric keys): अल्फा न्यूमैरिक की में Alphabets, Number और Symbol होते हैं. यह कीबोर्ड एक केंद्र में स्थित होती है. इस खंड में इनके अतिरिक्त चार कुंजियां और होती हैं. जो विशिष्ट कार्य में उपयोग होती हैं. वह है Tab, Caps, Backspace, Enter.

 2. संख्यात्मक कीपैड (Numeric keypad): संख्यात्मक कीपैड कीबोर्ड के दाएं और लगे होते हैं. इनका प्रयोग डाटा को तेजी से करने के लिए किया जाता है. इसमें दशमलव, जोड़, घटाव, गुणा, भाग, enter key और 0 से 9 के बटन लगे रहते हैं.

3. फंक्शन कुंजी (Function key): फंक्शन की 12 होती है. यह कीबोर्ड में सबसे ऊपर होती हैं जो  F1 से शुरू होकर F12 तक होती है. इन कुंजी के कार्य सॉफ्टवेयर के अनुसार होते हैं.

4. कसर मूवमेंट कुंजी (Cursor movement key): कसर मूवमेंट कुंजी कीबोर्ड के दाएं नीचे वाले भाग में लगे होते हैं. इसमें तीर के निशान वाले 4 भाग होते हैं जिससे आप Cursor को ऊपर, नीचे, दाएं, बाएं कर सकते हैं.

5. मोडीफायर कुंजी (Modifier key): मॉडिफाई कुंजी में तीन प्रकार की कुंजी होती है जिनके नाम है: SHIFT, ALT, CTRL. इन कुंजी को अकेले दबाने से कुछ कार्य नहीं होता है, परंतु जब इन कुंजीओ के साथ अन्य कुंजी का हम प्रयोग करते हैं तो यह उन कुंजी के इनपुट को बदल देती है. इसीलिए हम इन्हें मोडीफायर्स कुंजी कहते हैं.

6. विशेष उद्देश्य कुंजी (Special purpose key): विशेष उद्देश्य कुंजी किसी खास उद्देश्य में प्रयोग किए जाते हैं. कुछ विशेष उद्देश्य की निम्न है:

  • पाउस की (Pause key): पाउस की दबाने पर कोई भी कार्य डेक्सटॉप पर हो रहा है रुक जाता है. पुण: से किसी भी दूसरे बटन को दबाने से शुरू किया जा सकता है.
  • स्क्रोल लॉक कुंजी (Scroll lock key): स्क्रोल लॉक की का प्रयोग करने पर टेक्स्ट पर आ रही सूचना एक ही स्थान पर रुक जाती है.
  • डिलीट कुंजी (Delete key) : डिलीट की का प्रयोग कसर के दाएं ओर स्थित स्पेस या अल्फाबेट या कुछ भी मिटाने के लिए किया जा सकता है.
  • इंटर कुंजी (Enter key): इंटर की का प्रयोग कंप्यूटर में दिए गए निर्देशों को चलाने के लिए किया जाता है.
  • बैकस्पेस की (Backspace key): बैकस्पेस की का प्रयोग टाइपिंग के समय गलतियां ठीक करने के लिए किया जाता है.
  • प्रिंट स्क्रीन कुंजी (Print screen key): प्रिंट स्क्रीन की को दबाने पर स्क्रीन पर जो कुछ भी दिख रहा है उसे प्रिंट कर सकते हैं.
  • ESC कुंजी (ESC Key): ESC की कीबोर्ड में सबसे ऊपर होती है. इसका प्रयोग चालू प्रोग्राम से बाहर जाने के लिए होता है, या जो कंप्यूटर पर पहले कार्य हो रहा है उसे समाप्त करने के लिए होता है.
  • स्विफ्ट कुंजी (Shift key): कीबोर्ड में कुछ ऐसी चीज होते हैं जिन पर दो चिन्ना होते हैं. ऐसे ही की का प्रयोग करने के लिए स्विफ्ट की का प्रयोग किया जाता है. सिर्फ स्विफ्ट  की के साथ किसी भी एक और की के दबाने पर उस number, symbols का प्रयोग कर सकते हैं.
  • कैप्स लॉक कुंजी (Caps lock key): कैप्स लॉक कुंजी अंग्रेजी वर्णमाला के small से big और big से small में परिवर्तित करने के लिए किया जाता है.
  • नम लॉक कुंजी (Num lock key): नम लॉक कुंजी को दबाने पर कंप्यूटर में जो दाएं और संख्यात्मक कुंजियां होती हैं, वह कोई भी इनपुट कार्य नहीं करती हैं. दोबारा जब हम फिर से नम लॉक की दबाआएंगे तभी यह कुंजियां फिर से कार्य  करेंगे.
  • टैब कुंजी  (Tab key): टैब की का प्रयोग किसी भी चार्ट या फॉर्म में किया जाता है. जब हम फॉर्म में किसी एक खाने को भर रहे हो और हमें दूसरे खाने में जाना हो, तब हम टैब की को दबाकर बिना किसी और सहायता से वहां करसर (cursor) को ले जा सकते हैं,  जिससे हमें आसानी होती  है.

तो दोस्तों आज हमने जाना कि कीबोर्ड क्या है और इसके कुछ की होते हैं, वह क्या करते हैं और कैसे कार्य करते हैं. उम्मीद है, यह पोस्ट आपको पसंद आएगी. अगर आपको कीबोर्ड के बारे में और भी कुछ जानना हो, तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं.



No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT